open letter to dainik bhaskar editor
सेवा में, कल्पेश याग्निक, अध्यक्ष , मुस्लिम विरोधी मंच. (नेशनल एडिटर, दैनिक भास्कर) श्रीमान, जैसा की कुछ लोगों ने मुझे बताया कि आप दैनिक भास्कर नाम के हिंदी अखबार के नेशनल एडिटर भी हैं तो मुझे आश्चर्य हुआ कि आप एक साथ दो काम कैसे कर लेते हैं. पहला काम ये कि अपने...
tipu sultan bl.lowresl 620x400
कर्नाटक में टीपू सुल्तान की जयंती का विरोध करने वालों को शायद भारत का , खास कर दक्षिण भारत का इतिहास ही नहीं मालूम . वरना वे टीपू सुल्तान को खिराजे-अकीदत पेश करते और निज़ाम और मराठों के उस वक़्त के पेशवा को देशद्रोही के लक़ब से याद करते...
निर्भया केस के एक दोषी की पहचान के साथ हिंदुत्व के स्वयंभू ठेकेदार और स्वघोषित मोदीभक्त छेड़छाड़ कर रहे हैं। छेड़छाड़ भी ऐसी जो इस मामले की संवेदनशीलता और इस घटना से जुड़ी लोगों की भावनाओं से भद्दा खेल खेलती है। आज हम उस पोस्ट का सच बताएंगे जिसका...
read-this-before-making-any-decision-about-king-aurangzeb-alamgir
कुछ बात है की हस्ती,मिटती नहीं हमारी. सदियों रहा है दुश्मन, दौरे जहाँ हमारा.. औरंगज़ेब रोड का नाम बदल कर एपीजे अब्दुल कलाम कर देने से औरंगज़ेब के योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता. जिस औरंगज़ेब को आरएसएस के इतिहासकार हिन्दू विरोधी कहते हैं वे यह नहीं बताते की औरंगज़ेब...
judgement-of-qutubuddin-aibak
कुतुबुद्दीन ऐबक के बारे में बचपन में एक कहानी पढी थी. वो शिकार खेल रहा था, तीर चलाया और जब शिकार के नज़दीक गया तो देखा कि एक किशोर उसके तीर से घायल गिरा पड़ा है. कुछ ही पल में उस घायल किशोर की मौत हो जाती है. पता करने...
"फूट डालो और राज करो" की नीति के तहत अंग्रेजो ने मुस्लिमों को हिन्दुओं और सिखों से लड़वाने के लिए भारत के मुस्लिम शासकों के विरुद्ध गैर मुस्लिमों पर अत्याचार की बहुत सी भड़काऊ बातें इतिहास मे लिखवाई हैं, प्राय: ये भड़काऊ बातें तथ्यों को गलत ढंग से पेश...
jews and brahmin
यूरोपियन लोगो को हजारो सालो से भारत के लोगो में बहोत जादा interest है. क्यूँ की यहाँ व्यवस्था है -,धर्मव्यवस्था है, वर्णव्यवस्था है, जातिव्यवस्था है , अस्पृश्यता है, रीती रिवाज है, जिसने हजारो सालो से विदेशियों की जिज्ञासा को जगाया.की ये जो खास विशेषता है भारत के लोगो की...
अमरीकी अंतरिक्ष-यात्री (astronaut) नील आर्म स्ट्रोंग पहला इंसान है जिसने चार दिनों की अंतरिक्ष यात्रा (space voyage) के बाद 20 जुलाई 1969 को चांद पर अपना क़दम रखा, और वहां पँहुच कर यह ऐतिहासिक शब्द कहा– “एक इंसान के लिए‚ यह एक छोटा क़दम है‚ मगर इंसानियत के लिए बहुत...
क्या यह हैरत और क्षोभ की बात नहीं है कि किसी भी आतंकवादी हमले के पीछे यदि किसी मुस्लिम संगठन का नाम आने की खबर अदना से अदना चेनल पर या न्यूज़ पेपर में शाया हो जाये तो आप उस पर आँख मूँद कर विश्वास कर लेते हैं ,...
read-this-before-making-any-decision-about-king-aurangzeb-alamgir
पूर्व बादशाह औरंगज़ेब , मैं यह ख़त मान कर लिख रहा हूँ कि दोज़ख़ में भी ख़तों के पहुँचने की व्यवस्था होगी । तुम्हारे गुनाहों का हिसाब वहाँ तो हो ही रहा है, यहाँ भी हो रहा है । हम चाहते हैं कि वहाँ से पहले यहाँ हिसाब हो जाए...

ताज़ा समाचार