Wednesday, June 16, 2021
ravish kumar lead 730x419
16 जनवरी को व्हाट्सएप चैट की बातें वायरल होती हैं। किसी को पता नहीं कि चैट की तीन हज़ार पन्नों की फाइलें कहां से आई हैं। बताया जाता है कि मुंबई पुलिस TRP के फर्ज़ीवाड़े को लेकर जांच कर रही थी। उसी क्रम में इस मामले में गिरफ्तार पार्थो...
किसी संख्या में नई संख्या के जुड़ने का यही मतलब होगा कि पुरानी संख्या में नई संख्या जुड़ी है। जब कृषि मंत्री कहते हैं कि प्रधानमंत्री फ़सल बीमा योजना में हर साल 5.5 करोड़ नए किसान जुड़े हैं तो ऐसा लगता है कि पहले साल की तुलना में दूसरे...
डॉ.फर्रूख़ख़ान 26 जनवरी, 1950 को भारत ने स्वयं को गणतंत्र घोषित कर दिया। यह वो दिन था जबकि भारत ने ब्रिटिश संसद से पारित भारत सरकार अधिनियम 1935 की जगह नए संविधान को अपनाया। अब भारत ब्रिटिश साम्राज्य का हिस्सा नहीं था। तय हुआ कि इस दिन इस तरह मनाया जाए...
अगले हफ्ते अमरीका के राष्ट्रपति का कार्यभार संभालने जा रहे जोसेफ आर. बाइडन जूनियर ने आर्थिक पैकेज का एलान कर दिया है। इस पैकेज के तहत एक ख़ास आमदनी की सीमा तक के सभी अमरीकी नागरिकों को 1400 डॉलर का एक चेक मिलेगा। भारतीय रुपये में 1 लाख से...
आज अटल बिहारी वाजपेयी जयंती पर प्रधानमंत्री किसानों को सम्मानित करेंगे। 9 करोड़ किसानों के खाते में 2000 की किश्त जाएगी। प्रधानमंत्री को पैसे की ताक़त में बहुत यक़ीन है। इसलिए वे आंदोलनरत किसानों से बात नहीं कर इस राशि के बहाने किसानों से बात करेंगे। उन्हें यक़ीन है...
दलील का दलिया बना दिया है सरकार ने। किसान आंदोलन को बोगस बताने के लिए दलीलों की नित नई सप्लाई हो रही है। अब मार्केट में दूध कारोबार का लॉजिक लाँच किया गया है। प्रधानमंत्री कहते हैं कि भारत में कृषि और सहायक सेक्टर का कारोबार 28 लाख करोड़...
बेशक भाजपा इस बात पर गर्व कर सकती है कि बिहार का किसान उसे ही वोट करता है लेकिन वह यह साबित नहीं कर सकती है कि 2006 में बिहार में मंडी समाप्त कर बिहार का किसान अमीर हो गया।बिहार के किसानों को गेहूं और धान का दाम नहीं...
ravish583
किसान आंदोलन के बीच एक अख़बार निकलने लगा है। इस अख़बार का नाम है ट्राली टाइम्स। पंजाबी और हिन्दी में है। जिन किसानों को लगा था कि अख़बारों और चैनलों में काम करने वाले पत्रकार उनके गाँव घरों के हैं, उन्हें अहसास हो गया कि यह धोखा था। गाँव...
सरकार ने किसान आंदोलन के ख़िलाफ़ भयंकर प्रचार युद्ध शुरू कर दिया है। किसान सम्मेलनों और प्रेस कांफ्रेंस के ज़रिए क़ानून का प्रचार होगा। जल्दी ही सुरक्षा का एंगल किसान आंदोलन के आस-पास खड़ा कर दिया जाएगा। चीन और पाकिस्तान का नाम लेकर। किसान घिर गए हैं। ऊपर से...
ज्ञान सिंह संघा, 20 नवंबर 1992 जयमल सिंह पड्डा, 17.3.1988 सरबजीत सिंह भिट्टेवड, 2.5.1990 तीन नाम हैं। जिन्होंने इंसानियत के लिए अपनी जान दी। पंजाब जब उग्रवाद की चपेट में था  तब पंजाब के भीतर लोग उसका मुकाबला कर रहे थे। ये वो नाम हैं जो इतिहास में बड़े नाम नहीं कहलाए...