Monday, September 23, 2019
उमेश कुमार सिंह हेपेटाइटिस बी और सी के उपचार में प्रगति और विकास के बावजूद, जनता में जागरूकता की कमी के कारण इन दोनों ही बीमारियों को कम करना मुश्किल है। विश्व स्तर पर, लगभग 350 मिलियन लोग क्रोनिक हेपेटाइटिस बी से जूझ रहे हैं और यह लिवर की विफलता...
ravish kumar
रवीश कुमार आपको याद होगा कि मोदी सरकार के पूर्व आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यण ने कहा था कि 2011 से लेकर 2016 के बीच जीडीपी का डेटा सही नहीं है। जो बताया गया है वो 2.5 प्रतिशत अधिक है। उनके दावे के आधार पर कई प्रश्न उठे थे जिसका जवाब...
बीबीसी हिंदी न्यूज़ सर्विस में दो लड़कियों की एक साथ बहाली होती है। एक लड़की जामिया मिल्लिया से हिंदी पत्रकारिता में बैचलर डिग्री, मास्टर डिग्री, बाद में एमफिल की डिग्री ले चुकी है। वह IIMC जैसे पत्रकारिता के संस्थान में भी पढ़ाई कर चुकी है। दूसरी लड़की दाँतों का...
रवीश कुमार फाइनेंशियल एक्सप्रेस की ख़बर है कि मंगलवार को गृहमंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में मंत्रियों के समूह की बैठक हुई थी। इसमें BSNL और MTNL जैसी सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों को पटरी पर लाने के उपायों पर विचार किया गया। अब स्पेक्ट्रम बेचकर पैसा कमाने के सरकार के...
जून में निर्यात का आंकड़ा 41 महीनों में सबसे कम रहा है। आयात भी 9 प्रतिशत कम हो गया है। जो कि 34 महीने में सबसे कम है। सरकार मानती है कि दुनिया भर में व्यापारिक टकरावों के कारण ऐसा हुआ है। सरकार ने 2018-19 और 2019-20 के दौरान पेट्रोलियम...
रवीश कुमार “उनमुक्त आवाज़ की जगह सिमट गई है। आप स्वतंत्र पत्रकार हैं, कहना ख़तरनाक हो गया है। राष्ट्रपति शी जिनपिंग के शासन में ऐसे पत्रकार ग़ायब हो गए हैं। सरकार ने दर्जनों पत्रकारों को प्रताड़ित किया है और जेल में बंद कर दिया है। समाचार संस्थाएओं ने गहराई से...
देश के अंदर आये दिन एक भीड़तंत्र सरेआम कानून की धज्जिया उड़ाते हुये अल्पसंख्यको को अपना निशाना बनाकर उनकी हत्याये कर रहा है , साजिश के तहत ऐसी घटनाओ को अंजाम दिया जा रहा है ताकि लोगो मे खौफ़ पैदा किया जा सके । प्रशासनिक लचर व्यवस्था से मॉब लिंचिंग...
बचपन में सूरज निकलने के समय गंगा नदी में नहाने के दिनों में कई लोगों को देखता था। रोज़ नहाने आने वाले लोग धार के बहाव और सुबह की ठंड से कमज़ोर पड़ते आत्मबल को सहारा देने के लिए राम का नाम लेने लगते थे। कांपता हुआ आदमी राम...
यदि मैं देश में रहने वाले हिंदुओं से कहूं कि 'अगर देश में रहना होगा, अल्लाह हू अकबर कहना होगा।' कैसा लगेगा? है न हरमजदगी वाली बात। कट्टरता और ख़ौफ पैदा करने वाली बात। फिर मैं कहूं कि भारत देश, अल्लाह का देश है। तुमको देश के लिए अल्लाह हू अकबर...
1846 से 1858 तक फ़ारुख़ाबाद रियासत के नवाब रहे नवाब तफ़ज़्ज़ुल हुसैन ख़ान को अंग्रेज़ो ने जंग ए आज़ादी की पहली लड़ाई में क्रांतिकारियों की मदद करने के जुर्म में सज़ाए मौत दी थी, पर बाद में ये सज़ा घटा दी गई और उन्हे मुल्क बदर कर अदन भेज...

ताज़ा समाचार