Saturday, November 16, 2019
ICAI की वेबसाइट से पता चलता है कि सिर्फ एक साल में फ़ीस से कमाई 130 करोड़ से बढ़ कर 168 करोड़ हो गई है। दस से बारह लाख छात्र सी ए की पढ़ाई करते हैं। फ़ेल होने का सिस्टम बनाया गया है ताकि बाज़ार में ज़्यादा सीए न...
रवीश कुमार आप सुहैल यूसुफ़ हैं। बंगलुरू के ब्रिगेड रोड मार्केट संघ के सचिव। यूसुफ़ साहब ने मार्केट संघ के सचिव रहते एक कमाल किया है। मार्केट में पार्किंग की वजह से तंगी हो रही थी। सौ से कुछ अधिक दुकानें हैं। पार्किंग की समस्या का समाधान निकल नहीं पा...
अमरीका के शहर ह्यूस्टन में आज प्रधानमंत्री की रैली है। उसके बहाने आप अमरीका को भी समझने का प्रयास करें। उस मुल्क के समाज में इतना लोकतंत्र तो है कि आप दूसरे देशों से जाकर बस सकते हैं, नागरिकता ले सकते हैं और चुनाव लड़कर वहाँ की संसद में...
कलकत्ता के निकट जगरगच्छा जेल में बंद उन 56 कैदियों को रोटी दी नही जातीं थी बल्कि कुत्ते बिल्लियों की तरह उनके सामने फैंकी जाती थी। एक दिन फिरंगी अधिकारी निरीक्षण पर आया तो वह उनकी बैरक तक भी पहुंचा। 'औह...दीज आर दी ब्रेव इंडियन ?’ फिरंगी अधिकारी नें...
झारखंड के नौजवानों और पाठकों ने क्या फ़ैसला किया है? आपने देखा कि राज्य सरकार ने विज्ञापन निकाला है कि अख़बारों में काम करने वाले पत्रकार सरकारी योजनाओं की तारीफ़ में लिखने के लिए आवेदन करें। उन्हें एक लेख के 15000 दिए जाएंगे। इसके अलावा 5 हज़ार की प्रोत्साहन...
चंद्रयान-1 कवर करने गया था। उसके पहले कवर करते हुए काफी कुछ जान समझ लिया था। जब हम श्रीहरिकोटा गए तो छत पर दुनिया भर से आए अंतरिक्ष विज्ञान को कवर करने वाले पत्रकारों को देख सहम गया। एक तो उनके पास जो कैमरे और लेंस थे वही भारतीय...
चंद्रयान-दो की चांद की सतह के बिल्कुल पास पहुंचकर आख़िरी पलों में उसे छू न पाने की असफलता कोई बड़ा मसला नहीं है।इश्क़ की तरह विज्ञान भी ऐसी कई असफल कोशिशों से ही मंज़िल तक पहुंचता है। हमारे वैज्ञानिक सक्षम हैं और भविष्य में वे चांद ही नहीं, और...
ज़ैग़म मुर्तज़ा इमाम हुसैन ने ऐलान करके लोगों को कर्बला चलने की दावत दी। हज के ज़माने में लोगों को इकट्ठा करके समझाया कि यज़ीद के फितने से निपटना क्यों ज़रूरी है। ये भी बताया कि झूठ और ज़ुल्म से लड़कर मौत को गले लगाना कामयाबी क्यों है और डरकर...
ये हमारा नहीं आईने का दस्तूर है। दर्पण में वीसी सीवी ही नज़र आएगा। तभी वीसी को ख़्याल आया होगा। बग़ैर सीवी के वीसी बनना तो ठीक है लेकिन हमारी बादशाहत में उनकी सीवी कैसी होगी जिनकी हैसियत वीसी से भी ज़्यादा है। बस बादशाह-ए- जे एन यू को...
ravish583
सूचना और ज्ञान के सार्वजनिक महत्व के मामलों में हिन्दी प्रदेश अभिशप्त हैं। मीडिया के ज़रिए इस प्रदेश को अ-सूचित रखा जाता है। आप हिन्दी के चैनलों और अख़बारों के कंटेंट का विश्लेषण कर सकते हैं। बल्कि ख़ुद ही चेक कीजिए तो अच्छा रहेगा। कश्मीर में इतनी बड़ी घटना...

ताज़ा समाचार