Thursday, July 18, 2019
                                         रवि श्रीवास्तव महिलाओं के लिए कानून और सशक्तिकरण की बात समाज में रह रहकर उठती रहती हैं। समाज में महिलाओं को पुरूष के बराबर अधिकार है। समाज में हर रोज...
                                                        जावेद अनीस असंगठित क्षेत्रों में काम कर रहे मजदूरों के लिए श्रम कानून पहले ही बेमानी हो चुके थे इधर लेकिन “अच्छे...
जावेद अनीस यह राजनीति में ब्रांडिंग और “निवेश” का युग है, जहाँ ब्रांड ही विचार है और विज्ञापन ही सबसे बड़ा साधन है, मोदी ने 2014 की गर्मियों में इस बात को साबित किया था और अब राहुल गाँधी इसे दोहराने के लिए कमर कस रहे हैं. लेकिन समस्या यह...
पिछले दिनों नेपाल की राजधानी काठमांडू को केंद्र बनाकर अए प्रलयकारी भूकंप ने एक बार फिर भारी कहर बरपा किया है। इस भीषण प्राकृतिक त्रासदी में मृतकों की संख्या का आंकड़ा प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। नेपाली प्रधानमंत्री ने हालांकि मृतकों की अधिकतम संख्या दस हजार तक आंकी...
                                                          रवि श्रीवास्तव संसार में कुदरत ने देखने के लिए खूबसूरत नजारे दिए हैं। जिसे देखकर दिल को कितना सुकून मिलता है।...
                                                                            जावेद अनीस “इस बार सरपंच पद अनारक्षित महिला वर्ग का है, कई...
जम्मू-कश्मीर राज्य का विशेषकर कश्मीर घाटी का राजनैतिक विवाद देश की उन सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है जिसे विवादित एवं जटिल समस्याओं के लिए उदाहरण के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। यानी न सुलझ सकने वाली समस्या की तुलना मसल-ए-कश्मीर से की जाती है। सीमांत प्रांत...
हाईकमान कल्चर अथवा व्यक्तिगत नेतृत्व पर आधारित राजनैतक दलों में प्राय: यह देखा गया है कि पार्टी प्रमुखों को शिक्षित, ज्ञानवान, विचारवान अथवा व्यापक जनाधार रखने वाले लोगों के बजाए अपने इर्द-गिर्द ऐसे लोगों की जरूरत होती है जो भले ही उपरोक्त विशेषताएं रखते हों अथवा नहीं परंतु उनमें...
बिहार में शिक्षकों की हड़ताल से छात्र-छात्राओं का भविष्य बुरी तरह प्रभावित हो रहा है। बिहार के लगभग साढ़े तीन लाख नियोजित शिक्षक पिछले दो सप्ताह से हड़ताल पर है।. बिहार के नियोजित शिक्षक वेतनमान और दूसरी मांगों को लेकर पिछले कई दिनों से सरकार पर दबाव बना रहे...
भारत एक धर्मान्ध देश है, यहाँ धार्मिक जीवन को बहुत गंभीरता से स्वीकार किया जाता है, लेकिन भारतीय समाज की सबसे बड़ी खासियत विविधतापूर्ण एकता है, यह जमीन अलग अलग सामाजिक समूहों, संस्कृतियों और सभ्यताओं की संगम स्थाली रही है, और यही इस देश की ताकत भी रही है।...

ज़रूर पढ़ें

ताज़ा समाचार