Wednesday, December 11, 2019
read-this-before-making-any-decision-about-king-aurangzeb-alamgir
पूर्व बादशाह औरंगज़ेब , मैं यह ख़त मान कर लिख रहा हूँ कि दोज़ख़ में भी ख़तों के पहुँचने की व्यवस्था होगी । तुम्हारे गुनाहों का हिसाब वहाँ तो हो ही रहा है, यहाँ भी हो रहा है । हम चाहते हैं कि वहाँ से पहले यहाँ हिसाब हो जाए...
i-wish-this-is-last-incident-in-world
तुर्की के बीच पर एक तीन साल के बच्चे की तस्वीर दुनिया भर में गहरी चिंता का कारण बनी हुई है, ये तस्वीर देख कर मानवता शर्मसार हो गई है, ऎसा लग रहा है कि इस तस्वीर के आगे दुनिया पूरी तरह खामोश हो चुकी है। सीरिया के शरणार्थियों...
read-this-before-making-any-decision-about-king-aurangzeb-alamgir
कुछ बात है की हस्ती,मिटती नहीं हमारी. सदियों रहा है दुश्मन, दौरे जहाँ हमारा.. औरंगज़ेब रोड का नाम बदल कर एपीजे अब्दुल कलाम कर देने से औरंगज़ेब के योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता. जिस औरंगज़ेब को आरएसएस के इतिहासकार हिन्दू विरोधी कहते हैं वे यह नहीं बताते की औरंगज़ेब...
"फूट डालो और राज करो" की नीति के तहत अंग्रेजो ने मुस्लिमों को हिन्दुओं और सिखों से लड़वाने के लिए भारत के मुस्लिम शासकों के विरुद्ध गैर मुस्लिमों पर अत्याचार की बहुत सी भड़काऊ बातें इतिहास मे लिखवाई हैं, प्राय: ये भड़काऊ बातें तथ्यों को गलत ढंग से पेश...
जातक कथा है, ‘बहेलिया आएगा, जाल बिछाएगा, दाना डालेगा, ललचाना मत, पकड़े जाओगे...!’ बहेलिया जंगल से एक तोते को पकड़कर कस्बे में बेचने जा रहा था. रास्ते में एक साधु ने तोते को तड़पता देखा तो बहेलिये से बोले, ‘भाई, कुछ दिनों से मैं एक तोता पालने की सोच...
delhis-aurangzeb-road-renamed-after-abdul-kalam
नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (एनडीएमसी) ने औरंगज़ेब रोड का नाम बदलकर एपीजे अब्दुल कलाम रोड कर दिया है। केजरीवाल ने ट्वीट किया, “मुबारक हो, एनडीएमसी ने औरंगज़ेब रोड का नाम बदलकर एपीजे अब्दुल कलाम रोड करने का फ़ैसला किया है।” हिंदूवादी संगठनों के लोग बरसों से औरंगजेब रोड का नाम...
muslim-reservation-is-more-require
नई दिल्ली। सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) ने हाल ही में पटेलों द्वारा अन्य पिछड़ा वर्ग के तहत आरक्षण की मांग को लेकर की गई हिंसा में मारे गए आधा दर्जन से ज़्यादा लोगों की मौत पर संवेदना व्यक्त की है। एसडीपीआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष ए सईद ने अपने...
आज तमाम दुनिया देहश्तगर्दी पर अपने आंसू बहा रही है । कोई किसी मज़हब को उसका ज़िम्मेदार मान रहा है और कोई दूसरे पर इलज़ाम साज़ी कर रहा है । आज के दौर में जो मुसलमानो के मुल्को का हाल है उससे कोई बेख़बर नहीं है ,सब जानते है...
globle-recession
क्या मार्केट में यह बड़ी गिरावट वैश्विक मंदी की शुरुआत है? ऐसा हो भी सकता है। क्या मार्केट में गिरावट अस्थायी झटका है और यह खरीदारी का बड़ा मौका दे रही है, जैसा अगस्त 2013 के दौरान मिला था? ऐसा भी हो सकता है। निराशावादी और आशावादी अपनी दलीलें दे...
जब से याक़ूब मेमन को फांसी देने की तारीख तय हुई, तभी से कुछ लोग उसकी फांसी के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने लगे हैं। उनके अपने तर्क हैं जैसे कुछ ने कहा कि याक़ूब जब पाकिस्तान से भारत आया था तो उसे कुछ आश्वासन मिले थे कि उसके साथ नरमी...

ज़रूर पढ़ें

ताज़ा समाचार