Monday, September 23, 2019
मुस्लिम समाज केवल सेक्युलर पार्टियों का वोट बैंक बन कर रह गया हैं. जब चाहे जैसे चाहे सेक्युलर पार्टियाँ इनका इस्तेमाल करती हैं. एक तरफ बीजेपी और संघ परिवार का डर दिखा कर इनसे वोट ले लिया जाता है. लेकिन इनको कयादत नहीं दी जाती. इसका उदहारण राज्यसभा के...
ravish kumar
आज का दिन उस शब्द का है, जो भारतीय वायु सेना के पाकिस्तान में घुसकर बम गिराने के बाद अस्तित्व में आया है. भारत के विदेश सचिव ने इसे अ-सैन्य कार्रवाई कहा है. अंग्रेज़ी में non-military कहा गया है. इस शब्द में कूटनीतिक कलाकारी है. बमों से लैस लड़ाकू...
kamal nath 621x414
ना मंत्रियों का शपथ ग्रहण ना कैबिनेट की बैठक । सत्ता बदली और मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही किसानो की कर्ज माफी के दस्तावेज पर हस्ताक्षर कर दिये । ये वाकई पहली बार है कि राजनीति ने इक्नामी को हडप लिया या फिर राजनीतिक अर्थशास्त्र ही भारत का...
हिटलर को सिर्फ हिटलर की मूँछों और वर्दी में ढूँढने वाले वही ग़लती कर रहे हैं जो उस वक्त के कम्युनिस्टों ने की थी यहाँ रखा हर जूता अपने आप में एक लाश है। जैसे मार दिये जाने के बाद बहुत सी लाशें एक दूसरे के ऊपर लदी-फदी हैं। एक...
मेघायल में 27 फरवरी को 60 में से 59 सीट पर विधानसभा का चुनाव हुए था, जिसका नतीजा 3 मार्च को आया था। कांग्रेस को 21 सीट मिली थी, जबकि नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) को 19, यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी (यूडीपी) को 6, पीडीएफ को 4, भाजपा को 2, एचएसपीडीपी को...
sharia court
उबैद उल्लाह नासिर भारतीय मुसलमानों की प्रतिनिधि संस्था आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड द्वारा प्रत्येक जिले में “दारुल कुजा” या शरई अदालतों के गठन के एलान के साथ भारत की मीडिया विशेषकर चैनलों ने ऐसा दिखाने और समझाने का प्रयास शुरू कर दिया है जैसे मुस्लिमों की इस संस्था...
2012 में जब गुजरात में चुनाव करीब आ रहे थे तब गुजरात में घर को लेकर काफी चर्चा हो रही थी। कांग्रेस ने गुजरात की महिलाओं के लिए घर नू घर कार्यक्रम चलाया था कि सरकार में आए तो 15 लाख प्लाट देंगे और 15 लाख मकान। कांग्रेस पार्टी...
-अख़लाक़ अहमद उस्मानी* मध्य एशिया में सबसे स्थिर और तेज़ गति से प्रगति करने वाले देश क़ज़ाख़स्तान में हर साल यूरोप और एशिया के मीडिया में छाए रहने वाले मुद्दों, विचारों, मत और प्रोपेगैंडा पर विमर्श होता है। इस बार यह आयोजन राजधानी अस्ताना की नई नवेली एक्सपो कांग्रेस इमारत...
open letter to yashika datt from dilip c mandal
प्रिय याशिका दत्त, BBC के जरिए तुम्हारी कहानी सारा देश और दुनिया पढ़ रही है. तुम अब न्यूयॉर्क में हो और भारतीय जाति व्यवस्था को लेकर तुम्हारे बेहद कड़वे अनुभव हैं. इसीलिए तुमने अब तक अपनी दलित पहचान को छिपाया. तुम्हें यह जानकर खुशी होगी कि अब भारत में बहुजन लोगों...
चुनाव में भाग लेने के साथ-साथ उसे समझने की प्रक्रिया भी चलती रहनी चाहिए। हमारा सारा ध्यान सरकार बदलने और बनवाने पर रहता है लेकिन थोड़ा सा ध्यान हमें उन कारणों पर भी देना चाहिए जो राजनीति को तय करते हैं। जिनके कारण राजनीतिक बदलाव असंभव सा हो गया...

ताज़ा समाचार