Tuesday, November 19, 2019
शरणार्थियों के अधिकारों के लिए संघर्ष करने वाली युद्ध विरोधी  ब्रिटिश सांसद  "जो कॉक्स" को एक चरमपंथी ने मार डाला। जो कॉक्स की मौत पर मीडिया की प्रतिक्रया के बाद पश्चिमी में आतंकवादी हमलों के बारे में मीडिया के रवैये पर कई सवाल पैदा हो रहे हैं और बहुत से लोग...
ravish kumar lead 730x419
रवीश कुमार जम्मू कश्मीर और लद्दाख के उपराज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा है कि राज्य में 50,000 भर्तियों का पता लगाया गया है। इन पदों पर दो से तीन माह के भीतर अभियान चलाकर भर्ती कर दी जाएगी। उन्होंने यह नहीं बताया कि 50,000 पदों में से ज़्यादातर किस प्रकार...
ravish583
सबसे पहले दो तीन तारीखों को लेकर स्पष्ट हो जाइये। 10 अप्रैल 2015 को प्रधानमंत्री मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति ओलांद रफाल डील का एलान करते हैं। इसके 16 दिन पहले यानी 25 मार्च 2015 को राफेल विमान बनाने वाली कंपनी डास्सो एविएशन के सीईओ मीडिया से बात करते हुए...
अफ़रोज़ आलम साहिल, TwoCircles.net पटना:महागठबंधन की जीत में अल्पसंख्यकों का एक रोल रहा है. नतीजों के बाद इस बात की पूरी उम्मीद थी कि मुसलमानों को उनके योगदान के अनुपात में हिस्सेदारी ज़रूर मिलेगी. मगर 28 मंत्रियों के मंत्रिमंडल में सिर्फ़ 4 मुसलमानों को ही हिस्सेदार बनाया गया. इससे एक...
unnamed
आज भी देश के आम आदमी के मनोविज्ञान और भरोसे पर मोदी ब्रांड की पकड़ बरकरार है। जब बात देश की आती है तो इस देश के आम आदमी के सामने आज भी मोदी का कोई विकल्प नहीं है। 19 मार्च को योगी आदित्यनाथ, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप...
read-this-before-making-any-decision-about-king-aurangzeb-alamgir
कुछ बात है की हस्ती,मिटती नहीं हमारी. सदियों रहा है दुश्मन, दौरे जहाँ हमारा.. औरंगज़ेब रोड का नाम बदल कर एपीजे अब्दुल कलाम कर देने से औरंगज़ेब के योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता. जिस औरंगज़ेब को आरएसएस के इतिहासकार हिन्दू विरोधी कहते हैं वे यह नहीं बताते की औरंगज़ेब...
देश की मीडिया अभी अपनी विश्वसनीयता के सबसे बड़े संकट से गुज़र रही है। इलेक्ट्रोनिक मीडिया हो या प्रिंट मीडिया, उसपर सत्ता और पैसों का दबाव वैसा कभी नहीं रहा था जैसा आज है। वज़ह साफ़ है। चैनल और अखबार चलाना अब अब कोई मिशन या आन्दोलन नहीं। राष्ट्र...
देवरिया लोकसभा, जहाँ पिछली बार नियाज अहमद साहब दूसरे नम्बर पे थे, बसपा के सक्रिय कार्यकर्ता थे, पक्के अम्बेडकरवादी थे। क्षेत्र में हमेशा सक्रिय होकर जनसेवा करते रहे हैं। इस बार इनकी जीत सौ प्रतिशत तय थी। लेकिन मायावती ने ऐन मौके पे इनका टिकट काटकर विनोद जायसवाल को...
शिवपाल सिंह यादव ने की रामदेव से मुलाकात। भारत माता की जय न बोलने वालों का सर काटने की धमकी देने वाले उद्योगपति रामदेव पर समाजवादी पार्टी का स्टैंड अगर यही है तो विधानसभा चुनाव में उसे भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है। आखिर ऐसी कौन सी मजबूरी है जो...
गद्दाफी के बारे में सुनते ही आपके मस्तिष्क में सबसे पहला शब्द क्या आता है? एक खूँखार शासक?? तानाशाह?? आतंकवादी??, खैर शायद आपकी बात से एक लीबिया का नागरिक असहमति दर्ज करा दे पर हम चाहते है यह 10 बाते जान कर आप खुद फैसला करे। 41 साल लगातार लीबिया...

ताज़ा समाचार