जब तुम कहते हो फला सीट पर इतने प्रतिशत मुसलमान है, इतने प्रतिशत हिन्दू है । जब तुम कहते हो फला सीट पर इतने प्रतिशत एससी हैं, इतने प्रतिशत ओबीसी हैं, इतने प्रतिशत जनरल हैं । तब लगता है कानों में कोई बहुत तेज़ आवाज़ में बेसुरा संगीत बज...
इमामुद्दीन अलीग देश में कुल 543 लोकसभा सीटों में से 74 से ज़्यादा सीटें ऐसी हैं जहां मुस्लिम मतदाता निर्णायक भूमिका में हैं। 57 से अधिक लोकसभा क्षेत्र तो ऐसे हैं जहाँ मुसलमानों की आबादी 30 फीसद से भी ज़्यादा है... जबकि 74 से अधिक सीटें ऐसी हैं जहाँ मुस्लिम...
प्रधानमंत्री मोदी ने रेडियो के ज़रिए चौकीदारों से बात की। कार्यक्रम रेडियो का था मगर उसे टीवी के लिए भी बनाया गया। इसे सभी न्यूज़ चैनलों पर लगातार दिखाया गया। सभी चैनलों पर एक ही कवरेज़ रहा और एक ही एंगल से सारे वीडियो दिखे। किसी चैनल ने अपने...
पूर्व आईएएस टॉपर शाह फैसल ने अपने पद से त्यागपत्र देने के बाद एक नयी पार्टी का गठन किया है। शाह फैसल के इस फैसले का स्वागत होना चाहिये। उन्होने एक ऐसे समय मे यह फैसला लिया है जब काश्मीर गर्म तवे की तरह तप रहा है। यह बेहद...
nikah
महजबीन इस्लाम में बाप की जायदाद में बेटियों का भी हक़ है, इसका ज़िक्र सूरह निसा में है, इस सूरत में सबके हक़- हक़ूक का ही ज़िक्र है, मगर हक़ीक़त यह है कि बेटियों का बहनों का जो बाप की जायदाद में हक़ है वो सिर्फ़ एक दस्तावेज़ की शक़्ल...
सार्वजनिक शिक्षा एक आधुनिक विचार है,जिसमें सभी बच्चों को चाहे वे किसी भी लिंग, जाति, वर्ग, भाषा आदि के हों, शिक्षा उपलब्ध कराना शासन का कर्तव्य माना जाता है. भारत में वर्तमान आधुनिक शिक्षा का राष्ट्रीय ढांचा और  प्रबन्ध औपनिवेशिक काल और आजादी के बाद के दौर में ही...
IDBI का निजीकरण हो गया है। आप प्लीज़ रूकवा दें। इस तरह के मेसेज मेरे इनबॉक्स में भरे हैं। मेसेज भेजना भी एक किस्म का विरोध कार्य हो गया है। इससे निजी या सरकारी कंपनी में काम करने वाले कर्मचारियों की गोपनीयता भी बनी रहती है और विरोध भी...
गोवा के मुख्यमंत्री एवं पूर्व केन्द्रीय रक्षामंत्री मनोहर पर्रीकर पैंक्रियाटिक कैंसर से एक वर्ष तक जूझने के बाद देह से विदेह हो जाना  न केवल गोवा बल्कि भाजपा एवं भारतीय राजनीति के लिए दुखद एवं गहरा आघात है। उनका असमय  निधन हो जाना सभी के लिए संसार की क्षणभंगुरता,...
कोहराम न्यूज़ के लिए तारिक अनवर चंपारणी का लेख  पटना का मौर्यालोक मार्केट राजनीतिक प्राणियों का चारागाह है। प्रति दिन शाम में लेखक, पत्रकार, छात्रनेता, राजनेता, शिक्षक, समाजसेवी, डॉक्टर, व्यापारी, बयूरोक्रेट इत्यादि का लगने वाला जमावड़ा बिहार की राजनीति को समझने के लिए पर्याप्त है। उस जमावड़े में शामिल कुछ...
इस्लामोफ़ोबिया अर्थात मुसलमानों के ख़िलाफ़ और उनके प्रति तर्कहीन भय या घृणा का पूर्वाग्रह है। परन्तु बात इतनी सीधी भी नही है इसे हम दो हिस्सों में बाँट सकते है : १) Behaviour अर्थात व्यवहार २) Attitude अर्थात रवैया या मनोदृष्टि इस्लामोफ़ोबिया व्यवहार में जब होता है तो स्पष्ट रूप से दिखाई...

ताज़ा समाचार