Thursday, March 4, 2021
ABP न्यूज़ चैनल के रक्षित सिंह के इस्तीफ़े को लेकर कल से लगातार सोच रहा हूं। रक्षित मेरठ में हो रही किसान पंचायत को कवर करने गए थे। उसी के मंच पर जाकर उन्होंने अपना इस्तीफ़ा दे दिया। इस्तीफ़े के साथ-साथ कुछ बातें भी कहीं। इस्तीफ़ा देना साधारण बात...
स्नातक की परीक्षा में कई छात्र प्रश्न का सीधा उत्तर नहीं देते हैं। उत्तर के नाम पर पन्ना भर देते हैं। घंटी बजने तक लिखते रहते हैं। पन्नों को भरते रहते हैं। इस तरह के छात्र कभी स्वीकार नहीं करते कि उन्हें प्रश्नों के उत्तर मालूम नहीं है। कई...
तालाबंदी के कारण निवेश बैठ गया। नौकरी चली गई। सैलरी घट गई। मांग घट गई। तब कई जानकार कहने लगे कि सरकार अपना खर्च करे। वित्तीय घाटे की परवाह न करे। इस बजट में निर्मला सीतारमण ने ज़ोर देकर कहा कि हमने ख़र्च किया है। हमने ख़र्च किया है।...
हिंसा की घटना से किसान खुद शर्मिंदा थे। नेताओं की तरह सीना तान कर सही नहीं ठहरा रहे थे और न भाग रहे थे। बार बार कह रहे थे कि हिंसा ग़लत हुई। अगर किसानों का इरादा हिंसा का होता तो लाखों किसान थे। ज़्यादातर शांति से तय रूट...
गृह मंत्री की क्या जवाबदेही है अब यह सवाल नए सिलेबस से बाहर किया जा चुका है।  शिवराज पाटिल आख़िरी गृहमंत्री थे जिनसे सवाल किया जाता था। कल की हिंसक घटना के बाद ख़बर आती है कि गृह मंत्री ने उच्च स्तरीय बैठक की है और दिल्ली में अतिरिक्त...
लैला और महान आर्यावर्त           पिछले दिनों नेट फ्लिक्स पर एक वेब सीरीज लैला आई। ये सीरीज प्रयाग अकबर की किताब लैला पर बनी है। ये फ़िल्म हिन्दू राष्ट्र की सत्ता को दर्शाती फ़िल्म है। भारत जिसका नाम अब भारत से बदलकर आर्यावर्त हो गया है। जैसे इलाहाबाद से प्रयागराज...
उदय चे  2020 का सफरनामा…….. नया साल 2021 की पहली सुबह ऐतिहासिक किसान आंदोलन टिकरी बॉर्डर दिल्ली के तम्बू में एक नया सकूँ दे रही है। साल 2020 जनवरी की पहली सुबह भी आंदोलन के साथ ही शुरू हुई थी। भारतीय फासीवादी सत्ता द्वारा अल्पसंख्यक मुस्लिमो व बहुसंख्यक गरीब आवाम के खिलाफ...
टिकरी बॉर्डर दिल्ली एक रिपोर्ट…... दिल्ली के बॉर्डर से बहादुरगढ़ बाईपास तक बीस किलोमीटर में फैला आंदोलनकारी किसानों का काफिला। काफिले में आये हुई अलग-अलग गांव के किसान जिन्होंने अपने लाव-लश्कर सत्ता की सड़क पर डाले हुए है। किसान जो गरीब भारत का हिस्सा है। किसान जो मेहनत करके पूरे मुल्क...
रवीश कुमार मोहम्मद अज़ीज़ महान गायक थे। मोहम्मद रफ़ी के साये में देखे जाने के कारण उनकी गायकी को वो पहचान न मिली जिसकी हकदार थी। सुनने वालों की दुनिया में मोहम्मद अज़ीज़ ने कोई छोटा मकाम हासिल नहीं किया था। मकाम और पहचान के बीच कुछ फ़ासले होते हैं...
ravish kumar lead 730x419
16 जनवरी को व्हाट्सएप चैट की बातें वायरल होती हैं। किसी को पता नहीं कि चैट की तीन हज़ार पन्नों की फाइलें कहां से आई हैं। बताया जाता है कि मुंबई पुलिस TRP के फर्ज़ीवाड़े को लेकर जांच कर रही थी। उसी क्रम में इस मामले में गिरफ्तार पार्थो...