अहमदाबाद ज़िला सहकारिता बैंक में नोटबंदी के दौरान सबसे अधिक पैसा जमा हुआ है। 8 नवंबर को नोटबंदी लागू हुई थी और 14 नवंबर को एलान हुआ था कि सहकारिता बैंकों में पैसा नहीं बदला जाएगा। मगर इन पांच दिनों में इस बैंक में 745 करोड़ रुपये जमा हुए।...
ola4
मैं आज लगभग एक वर्ष से जब भी मुम्बई होता हूँ दिन में कम से कम दो बार 'ओला' से सफर करता हूँ। अपने रेस्टोरेंट 'ओसियन' तक जाना और रात 11-1 बजे के बीच वापस आना। बहुत बार ओला ड्राइवर नाटक भी कर देता है। शायद इसलिए भी होता...
bjp2 kvwe 621x414@livemint
विकास नारायण राय, इस बार मीडिया और एनजीओ बिरादरी के लिए ईद पर अटाली की खोज-खबर लेने जाना कहीं अधिक आसान होना चाहिए था, लेकिन कोई नहीं पहुंचा|इसी मई में प्रधानमन्त्री मोदी ने बड़े धूम धड़ाके से ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे का उद्घाटन किया थॉ। पेरिफेरलवे के फरीदाबाद में एकमात्र...
ravish583
आने वाले दिनों में भारत का मीडिया आपको कश्मीर का एक्सपर्ट बनाने वाला है। पहले भी बनाया था मगर अब नए सिरे से बनाएगा। मैं उल्लू बनाना कहूंगा तो ठीक नहीं लगता इसलिए एक्सपर्ट बनाना कह रहा हूं। भारत की राजनीति बुनियादी सवालों को छोड़ चुकी है। वह हर...
amares mishra 640x358
नई दिल्ली – सप्ताह भर के अंदर पश्चिमी यूपी के हापुड़ और झारखंड में गाय के नाम पर मॉलिंचिंग हुई है। वरिष्ठ पत्रकार अमरेश मिश्रा ने इन घटनाओं को घोर अमानवीय कृत्य करार दिया है। साथ ही उन्होंने चेतावनी दी है कि मेरी यह चेतावनी उन ‘गौ-गुंडों’ के लिए...
आज कश्मीर के कई बड़े अख़बारों ने पत्रकार शुजात बुख़ारी की हत्या के विरोध में अपने संपादकीय कोने को ख़ाली छोड़ दिया है। ईद की दो दिनों की छुट्टियों के बाद जब आज अख़बार छप कर आए तो संपादकीय हिस्सा ख़ाली था। ग्रेट कश्मीर, कश्मीर रीडर, कश्मीर आब्ज़र्वर, राइज़िंग...
विकास नारायण राय “अमित शाह से मिलने पहुंचे अजित डोवल”- संघ परिवार के लिए यह खबर प्रचारित करने की जरूरत क्या रही होगी? यही कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार की सलाह पर भाजपा अध्यक्ष ने महबूबा मुफ्ती सरकार से समर्थन वापस लिया है| यानी वे अपनी तोता रटंत जारी रख सकते...
modi mehbooba
प्रशांत टंडन पीडीपी से समर्थन वापसी का ऐलान करते वक़्त बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने कहा कि उन्होने राज्य में शांति और विकास के लिये पीडीपी के साथ मिल कर सरकार बनाई थी लेकिन इन दोनों क्षेत्रों में महबूबा सरकार विफल रही, उन्ही के शब्दों में राज्य में...
कॉरपोरेट-उद्योगपतियों को धन देंगे। उससे कारपोरेट-कारोबारी धंधा करेंगे। मुनाफा अपने पास रखेंगे। बाकि टैक्स या अन्य माध्यमों से रुपया सरकार के खजाने तक पहुंचेगा। कॉरपोरेट-उद्योगपतियों की तादाद ज्यादा होगी तो उनमें सरकार के करीब आकर धन लेने से लेकर लाइसेंस लेने तक में होड होगी । इस होड का...
pashtun societyafgan
अमृत पाल सिंह - 'सूबा सरहद में ब्रिटिश हुकूमत द्वारा इस्लाम का प्रयोग' साम्राज्यवादी अंग्रेज़ों को न तो मुसलमानों से कोई मुहब्बत थी, न हिन्दुओं से कोई नफ़रत। उनको तो बस अपने सियासी और आर्थिक लाभ से मतलब था।  ब्रिटिश इण्डिया में अंग्रेज़ों का फ़ायदा मुस्लिम लीग को बढ़ावा देने में था,...

ज़रूर पढ़ें

ताज़ा समाचार

error: Contents of Kohraam.com are copyright protected.