faiza1
डॉ. शारिक़ अहमद ख़ान आज फ़ैज़ाबाद से गुज़रे तो 'बड़ी बुआ 'नाम की एक सूफ़ी संत की ये बद्दुआ याद आयी। फ़ैज़ाबाद को नवाब शुजाउद्दौला ने ऐसा करीने से संवारा कि उस दौर में फ़ैज़ाबाद इल्म-ओ-अदब का मरकज़ बन गया। उजड़ती दिल्ली से हर किस्म के फ़नकार और कलाकार फ़ैज़ाबाद...
ravish kumar
बीजेपी के नेता अनंत कुमार का निधन हो गया है। अनंत कुमार कर्नाटक भाजपा के बड़े नेता रहे हैं। अनंत कुमार की उम्र कोई बहुत ज़्यादा नहीं थी लेकिन कैंसर ने उनकी राजनीतिक सक्रियता समाप्त कर दी। बीजेपी के एक और नेता और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर कैंसर...
"ठग आफ हिन्दुस्तान" ने एहसास कराया कि मौजूदा राजनीतिक महौल में कैसे रचनात्मकता काफूर है तो "सरकार  " ने एहसास कराया  कि जब रचनात्मकता खत्म होती है और समाज में वैचारिक शून्यता आती है तो कैसे हालात लोकतंत्र ही हडप लेती है । जी , दोनो ही सिनेमा है...
ravish kumar lead 730x419
2014 के घोषणापत्र में बीजेपी ने नई शिक्षा नीति का वादा किया था। इंटरनेट पर सर्च कीजिए, वो नई शिक्षा नीति कहां है,अता-पता नहीं चलेगा। हमने अख़बारों में छपे इस संदर्भ में उनके बयानों का विश्लेषण किया है और साथ ही उनके ट्विटर हैंडल के ट्विटस और री-ट्विट्स का...
ma 7591
अगर आइडेंटिटी पॉलिटिक्स नहीं होती तो मायावती कभी इतने बड़े सूबे की मुख्यमंत्री नहीं बन पाती और न ही बहुजन मूवमेंट इस देश में उभर पाता। अखिलेश यादव से लेकर लालू यादव समाजिक गठजोड़ के तहत सत्ता में आए उसमें भी आइडेंटिटी पॉलिटिक्स को नकार नहीं सकते। साउथ इंडिया में...
राजस्थान बीजेपी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्विट किया है कि भाजपा ने 15 लाख नौकरियां देने का वादा किया था। 44 लाख से अधिक लोगों को नौकरियाँ दीं है। 9 नवंबर का ट्विट है। राजस्थान बीजेपी का ट्विट है तो यह राजस्थान के बारे में ही दावा...
रात दस बजते ही भारत का सुप्रीम कोर्ट अल्पसंख्यक की तरह सहमा-दुबका खड़ा नज़र आने लगा। कहां तो उसके आदेश के सम्मान में आज बहुमत को खड़ा होना चाहिए था, मगर दस बजते ही उसका एक बड़ा हिस्सा सुप्रीम कोर्ट की अवमानना करने लगा। 23 अक्तूबर का आदेश कि...
pras
कह नहीं सकता देश बीस बरस पीछे चला गया बीजेपी । क्यों ? क्योकि समझ दिशाहीन है । झटके में चाय की चुस्कियो के बीच संघ को बरसो बरस से नाप रहे और खुद संवयसेवक से सियासी चालो में माहिर तो नहीं कहे लेकिन समझदार शख्स की जुबां से...
हमारे वक्त की राजनीति को सिर्फ नारों से नहीं समझा जा सकता है। इतना कुछ नया हो रहा है कि उसके अच्छे या बुरे के असर के बारे में ठीक-ठीक अंदाज़ा लगाना मुश्किल हो रहा है। समझना मुश्किल हो रहा है कि सरकार जनता के लिए काम कर रही...
योगी आदित्यनाथ दीपावली के दिन राम मंदिर को लेकर कौन सा एलान करने वाले है । दिल्ली में दो दिन तक अखिल भारतीय संत समिति को बैठक करने की जरुरत क्यों पडी । और दशहरा के दिन अचानक  नागपुर में सरसंघचालक मोहन भागवत की जुबान पर राम मंदिर निर्माण...

ज़रूर पढ़ें

ताज़ा समाचार