3546
वन्यजीव संरक्षण अधिनियम 1972 में भारत के संविधान के अनुच्छेद 252 के तहत पारित किया गया था. इस अधिनियम का उद्देश्य वन्यजीव संरक्षण के लिए एक समान ढांचा प्रदान करना है. अधिनियम वन्यजीवन की सुरक्षा के लिए दो गुना तंत्र को गोद लेता है: शिकार को रोकना संरक्षित क्षेत्रों का निर्माण इन...
arrest
गिरफ्तारी शब्द का मतलब कानूनी अधिकार द्वारा किसी को पकड़ना और उन्हें हिरासत में लेना है. पुलिस को वारंट  के साथ और बिना किसी व्यक्ति को गिरफ्तार करने का अधिकार है. यह जरूरी है कि गिरफ्तार होने के समय ऐसे व्यक्ति को अपने अधिकारों को जानना चाहिए.जब दरवाजे पर...
359560
अगर हम अपराध की बात करें तो सरल शब्दों में अपराध किसी व्यक्ति द्वारा किए गए किसी भी कार्य या चूक को संदर्भित करता है जो लागू होने के लिए किसी भी कानून द्वारा निषिद्ध है और कानून के तहत दंडनीय बना दिया गया है. भारत में अपराध और...
3245444444444444444
वह प्रत्येक वचन अथवा करार जो कानून द्वारा प्रवर्तनीय हो अथवा जिसका कानून द्वारा पालन कराया जा सके, संविदा (ठेका, अनुबन्ध, कान्ट्रैक्ट) कहलाता है. वर्तमान संविदा की विशेषता उसकी कानूनी मान्यता है. धारा 2 के तहत इंडियन कॉन्ट्रैक्ट एक्ट,1872 कॉन्ट्रैक्ट को एग्रीमेंट्स के रूप में परिभाषित करता है, जिसे की कानून...
94056 56 5657677
जब भी किसी बच्चे का जन्म एक ऐसे समय पर होता है जब बच्चे की माँ का बच्चे के पिता से तलाक हो चूका होता है और बच्चा पति का वैध बच्चा होता है तो पति और पत्नी के बीच विवाद पैदा हो जाते हैं क्योंकि यह बच्चे की...
property
अपने घर का होना सभी के लिए एक सपने जैसा होता है और जब हम अपना आशियाना ख़रीदने के लिए सोच रहे होते हैं तो उत्साह तो होता ही है, कई सारे सवाल भी हमारे आस-पास होते हैं. कुछ सवाल तो ऐसे होते हैं कि जिस एरिया में हम...
39437
आज के आधुनिक समय के मोबाइल फोन हमारे जीवन में एक आवश्यकता बन गया है. हम अपने मोबाइल फोन पर लगभग पूरी तरह से निर्भर हो गए हैं. मोबाइल फोन के इस्तेमाल  से वित्तीय बैंकिंग विवरण और लेनदेन के प्रबंधन के लिए सोशल नेटवर्किंग के इस्तेमाल से लेकर एक...
7888888888
आपको कानूनी नोटिस के बारे में जानना चाहिए क्योंकि कभी भी आपको लीगल नोटिस किसी से भी मिल सकता है और कभी भी आपको किसी भी व्यक्ति को लीगल नोटिस भेजने की जरुरत पड़ सकती है.इसलिए आज हम आपको बतायेंगे की लीगल नोटिस के प्रभाव क्या हैं और लीगल...
34594869
सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005 को भारत में सरकारी संस्थानों के कामकाज में पारदर्शिता लाने के दृष्टिकोण के साथ अधिनियमित किया गया था. इस अधिनियम को भारतीय कानूनों के इतिहास में एक क्रांतिकारी कानून माना जाता है क्योंकि यह पहला कानून था जिसने सरकारी विभागों और संगठनों को लोगों...
traffic police
ट्रैफिक पुलिस ने लगभग सभी को कभी ना कभी ज़रूर रोका होगा और कई बार ये बहुत परेशान भी करता है. यदि ट्रैफिक पुलिस आपको रोके तो आपको परेशान होने की ज़रुरत नहीं है. ट्रैफिक पुलिस द्वारा रोके जाने पर ज़रूरी अधिकार ये हैं- जानिये यह अधिकार  ट्रैफिक पुलिस को किसी...

ताज़ा समाचार