Sunday, January 23, 2022

महंगाई की मार झेल रहे लोगों को RBI ने नहीं दी राहत

- Advertisement -

बुधवार को रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने मौद्रिक नीति समिति (Monetary Policy Committee) की बैठक के बाद ब्याज दरों पर लिए गए फैसलों का ऐलान किया और आम लोग जो कि महंगाई की मार झेल रहे हैं उनको किसी तरह की राहत नहीं दी है।

नतीजे की घोषणा करते हुए शक्तिकांत दास ने बताया कि, रिजर्व बैंक ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट (Repo Rate and Reverse Repo Rate) में किसी भी तरह का कोई बदलाव नहीं किया है। आपको बता दें ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं होगा आरबीआई के इस फैसले के बाद से।

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास (MPC) बैठक के बाद बोले, Monetary Policy Committee (MPC) ने रेपो रेट को 4% पर रखने का सर्वसम्मति से मतदान किया और रिवर्स रेपो रेट को 3.35% पर अपरिवर्तित रखा गया है। उन्होंने आगे बताया कि ‘Marginal Standing Facility’ (MSF) और बैंक दरों में कोई भी बदलाव नहीं किया गया है वाह 4.25 प्रतिशत ही रखा गया है।

आपको बता दें रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया जिस दर पर बैंकों को लोन देता है उसे रेपो रेट कहा जाता है। इसी लिए हुए कर्ज से बैंक अपने ग्राहकों को आगे लोन देता है अर्थात रेपो रेट कम होने पर लोन पर लगी ब्याज दर भी कम होती है और यदि रेपो रेट बढ़ता है तो ब्याज दरें भी बढ़ती है।

वहीं ‘रिवर्स रेपो रेट’ – ‘रेपो रेट’ का ठीक उल्टा होता है उदाहरण यह वह दर है जिस पर बैंकों की ओर से जमा राशि पर आरबीआई ब्याज देता है रिवर्स रेपो रेट के जरिए बाजारों में लिक्विडिटी यानी नदी को नियंत्रित किया जाता है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles