msid-52113045,width-400,resizemode-4,collector-hostage

सत्ता के नशे में चूर भाजपा और बीजेपी कार्यकर्ताओं ने कानून का मज़ाक उड़ाते हुए बलिया के जिलाधिकारी राकेश कुमार को एक घंटे से अधिक समय के लिए बंधक बनाकर रखा, बीजेपी कार्यकर्ता मजिस्ट्रेट महोदय को एक मांगपत्र सौंपना चाहते थे लेकिन मांगपत्र सौपने का जो तरीका बीजेपी कार्यकर्ताओं ने अपनाया वो गैरक़ानूनी होने के साथ साथ बेहूदा भी था.

कोहराम न्यूज़ को मिली जानकारी के अनुसार बीजेपी किसान मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने सिकंदपुर तहसील परिसर में बिना आज्ञा धरना दिया और हुल्लड़बाजी की। इसके इलावा उन्होंने डीएम राकेश कुमार जो कि तहसील दिवस प्रोग्राम में शरीक होकर वापिस लौट रहे थे की गाडी का घेराव कर उन्हें करीबन १ घंटे तक गाडी में ही बंदी बनाए रखा।

कार्यकर्ताओं का आरोप था कि केंद्र से पैसा मिलने के बावजूद स्थानीय अधिकारी किसानों की ओलों और सूखे में ख़राब हुई फसल का मुआवज़ा नहीं दे रहे हैं।

डीएम को घेरे जाने के बाद इलाके के पुलिस इंचार्ज बृजेश शुक्ल ने कार्यवाई करते हुए किसान मोर्चा के राज्य प्रधान राजा वर्मा, पूर्व एमएलए भगवन पाठक समेत 100 अज्ञात लोगों पर दंगे करने, गलत तरीके से रास्ता रोकने, सरकारी नौकर पर हमला करने के मामले दर्ज कर लिए हैं।

गौरतलब है की यूपी में समाजवादी पार्टी की सरकार होने का वाबजूद अराजक तत्वों के हौसले इतने बुलंद हो गये है की कानून की धज्जियाँ उड़ाने में ज़रा भी डर नही रहा.





कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें