71 साल से थी बर्फीली पानी की झील अचानक निकल आया एक खोया हुआ गांव

अक्सर सुनने में आता है किसी ना किसी देश के शहर में क्या किसी अनजान टापू पर दुनिया के किसी भी छोड़ पर कुछ साल पुराने गांव और शहर खुदाई में मिलते हैं मगर इटली में चौधरी शताब्दी के एक चर्च की मीनार इस झील के बर्फीले पानी के बीच में मौजूद है।

लेकिन इस झील में एक खोए हुए गांव के अवशेष मिलने के बाद से लोग इसके निर्माण का इतिहास जानकर हैरान हो गए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक जब कई वर्षों बाद झील की मरम्मत का काम शुरू हुआ तो उसके पानी को अस्थाई रूप से सुखाया गया। इसके बाद ही लोगों ने सामने दशकों से जलमग्न गांव की तस्वीर आई।

आपको बता दें लेक रेसिया को जर्मन में रेसचेन्सी के नाम से जाना जाता है यह दक्षिण टायराल के अल्पाइन क्षेत्र में स्थित है, जो ऑस्ट्रिया और स्विजरलैंड की सीमा में है बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक 1950 में पानी में सामान्य से पहले क्यूरॉन नामक यह गांव सैकड़ों लोगों का घर हुआ करता था।

दरअसल एक हाइड्रोलिक प्लांट बनाने के लिए सरकार ने यहां 71 साल पहले एक बांध का निर्माण करवाया जिसके लिए 2 जिलों को मिलाया गया और इस क्यूरॉन गांव का वजूद मिट गया। जब 1950 में गांव के निवासियों की आपत्तियों के बावजूद भी अधिकारियों ने एक बांध बनाने और पास की दो बड़ी झीलों को मिलाने का फैसला किया तो यह गांव पानी की गहराई में खो गया था।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Matteo Cau (@the_rex89)

विज्ञापन