मध्यप्रदेश के उज्जैन शहर में जैन मुनि निर्भय सागर ने शनिवार को मीडिया से बातचीत में लड़कियों के जीन्स पहनने पर कहा कि जीन्स पहनने वाली लडकियों की देर से शादी होती हैं. जिसके कारण वे नाजायज सबंध बनाती हैं.

जैन मुनि यहीं नहीं रुकें उन्होंने उन्होंने ये तक कह दिया कि जींस पहनने वालीं लड़कियों के बच्चे ऑपरेशन से होते हैं. इसलिए लड़कियों को अपने कपड़ों का ध्यान रखना चाहिए. जैन मुनि निर्भय सागर ने कहा कि, लड़कियां टाइट पेंट जींस पहनती हैं, जिससे उनमें वासना की प्रवृति पैदा होती है. वहीं, जींस में घर्षण होने की वजह से महिलाओं की सीजेरियन डिलीवरी न होकर ऑपरेशन से बच्चे पैदा होते हैं. इसलिए बच्चों को मर्यादा में रखना चाहिए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने नाबालिग विवाह को समर्थन करते हुए कहा, कि, 16 साल में लड़कियों की शादी कर देना चाहिए. इससे अवैध संबंध बचा जा सकेगा. साथ ही उन्होंने जैन समुदाय के लोगगों को कहा कि कम से कम तीन बच्चे पैदा करो. अगर ऐसा नहीं किया तो जैन समाज खत्म ही हो जाएगा.