केरला के पलक्कड़ में फेमस गर्वनमेंट विक्टोरिया कॉलेज के कुछ छात्रों के एक ग्रुप ने अपनी प्रिंसिपल का अपमान करने के लिए कथित रूप से उनके रिटायर होने पर उनके लिए बतौर उपहार एक प्रतीकात्मक ‘कब्र’ तैयार कर दी।

बताया जा रहा है कि ये छात्र वामपंथी विचारधारा की तरफ झुकाव रखते हैं और छात्र संगठन स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) से जुड़े हैं। यह संस्थान 127 साल पुराना है।
प्राचार्य डॉ. टीएन सरासू के शिकायत दर्ज कराने के बाद पुलिस ने छात्रों के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामले दर्ज किए। सरासू बीती 31 मार्च को रिटायर हुई थीं। उन्होंने आरोप लगाया कि अखिल केरल सरकारी कॉलेज शिक्षक संघ के ‘कुछ सदस्यों’ के इशारे पर छात्रों ने यह काम किया और ये छात्र वामपंथी विचारधारा की तरफ झुकाव रखते हैं।
सरासू ने पुलिस में दायर की गई अपनी शिकायत में कम से कम आठ छात्रों का नाम लिया है, जिन्होंने कॉलेज परिसर में एक ‘प्रतीकात्मक कब्र’ तैयार की और 31 मार्च को सुबह करीब सात बजे उसपर फूल और मालाएं चढ़ाईं। कुछ छात्रों ने प्राचार्य को घटना की जानकारी दी।
सरासू ने कहा, ‘मैं उनकी प्रिंसिपल रही हूं और उनकी अनुचित मांगों को नहीं माना जो उनके आक्रोशित होने का कारण हो सकता है।’ उन्होंने कहा कि मैंने ईमानदारी से अपना काम किया है, मेरे कार्यकाल में काफी अच्छे काम किए गए।
गौरतलब है कि पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टी. एन. शेषन, दिल्ली मेट्रो के पूर्व प्रमुख ई. श्रीधरन, केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ईएमएस नंबूदिरीपाद, लेखक एवं कार्टूनिस्ट ओवी विजयन जैसे प्रतिष्ठित चेहरे इस कॉलेज के छात्र रह चुके हैं।
Loading...