मध्यप्रदेश में कुछ ऐसे आकड़े सामने आयें है जो बेहद ही हैरतअंगेज है. शायद इन आकड़ों को जानकार आपको हसी भी आ जाए. इस राज्य में हर महीने 200 पति अपनी पत्नियों पिटते है. वैसे तो आपने यह सुना होगा की अक्सर पति अपनी पत्नियों से मारपीट करते नज़र आते है लेकिन इस बार कहानी थोड़ी अलग है. लेकिन अब जमाना बदल रहा है, महिलाओं ने अपने उपर हो रहे अत्याचारों पर आवाज़ उठानी शुरू कर दी है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, भोपाल में कुछ ऐसे चौकाने वाले आकड़े आंकड़े सामने आयें है. जहाँ महिलाओं के हाथों पिटने वाले पुरुष भी कम नहीं हैं और यह पीटीआई चुप नहीं बैठते है इस पिटाई की बाकायदा शिकायत भी कराई जाती है. मध्य प्रदेश में अपराधों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई के लिए कुछ साल पहले सेवा “डायल 100” भी शुरू की गयी थी. अब जनसंपर्क अधिकारी हेमंत शर्मा ने इस पर मिली शिकायतों के आधार पर बताया कि राज्य में औसतन हर माह 200 पति अपनी पत्नियों से पिटते हैं यानी हर दिन 7 पति अपनी पत्नियों से पिटते है.

वैसे आपको बता दें कि, पत्नी से पिटने वाले पतियों के आकड़ों पर नज़र डालें तो इंदौर इस मामले में आगे है. यहां जनवरी से अप्रैल 2018 तक चार माह में 72 पतियों ने अपनी पत्नियों से पिटाई होने की शिकायत पुलिस में दर्ज करवाई. दूसरे स्थान पर रहते हुए भोपाल के 52 पतियों ने अपनी पत्नियों के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है। इसी अवधि में पूरे प्रदेश में 802 पतियों ने पत्नी प्रताड़ना की शिकायत दर्ज करवाई है. इन राज्यों में लगातार पति अपनी पत्नी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराते है.

 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, जनवरी 2018 से “डायल 100” की टीम ने इस नंबर पर फोन करने वालों के लिए अन्य श्रेणियों के साथ ही “बीटिंग हज्बंड इवेंट” की एक नई श्रेणी तैयार की है. आपको बता दें कि, अब तक यह आंकड़े घरेलू हिंसा की वृहद श्रेणी में ही शामिल किए जाते थे और इनका अलग से कहीं उल्लेख नहीं किया जाता था. लेकिन अब इन शिकायतों के लिए अलग स्टेशन बनाया गया है.

वैसेतो यह कहा जाता है कि, घरेलू हिंसा केवल महिलाओं के साथ ही होती है. “बीटिंग हज्बंड इवें” की श्रेणी बनने के बाद तस्वीर का दूसरा रुख भी सामने आया. “डायल 100” ने जनवरी से प्रदेश में “बीटिंग हस्बैंड इवेंट” और “बीटिंग वाइफ इवेंट” की श्रेणी को घरेलू हिंसा की श्रेणी से अलग कर दिया. नतीजा यह रहा कि जनवरी 2018 से अप्रैल तक की अवधि में “डायल 100” के प्रदेश स्तरीय नियंत्रण कक्ष में 802 पति घर में अपनी पिटाई की शिकायत दर्ज करवा चुके हैं. यह मामले बढ़ते ही जा रहे है.

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन