train 1523218903

शनिवार रात ओडिशा के तितलागढ़ स्टेशन पर 22 डिब्बों वाली एक पैसेंजर ट्रेन बिना इंजन के 15 किलोमीटर तक दौड़ी. इस सिलसिले में लापरवाही को लेकर सात रेलकर्मियों को निलंबित किया गया है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, रात लगभग 10 बजे तितलागढ़ स्टेशन पर अहमदाबाद-पुरी एक्सप्रेस खड़ी थी. यात्रियों से भरी 22 डिब्बों वाली ये ट्रेन संबलपुर जाने वाली थी और ट्रेन का इंजन बदला जाना था.

ऐसे में जब ट्रेन का इंजन अलग किया गया तो वो प्लेटफॉर्म से निकलकर क़रीब दो घंटों तक बिना इंजन के चलती रही. ख़बर मिलते ही किसी भी तरह के हादसे को रोकने के लिए सभी क्रॉसिंगों को बंद कर दिया गया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

रेलवे प्रवक्ता ने बताया कि ईस्ट कोस्ट रेलवे में बोलंगीर के टीटलागढ़ में इंजन को एक छोर से हटाकर दूसरे छोर पर लगाने की प्रक्रिया के दौरान स्किड ब्रेक ठीक से न लगाए जाने के कारण ट्रेन के 22 कोच ढलान की दिशा में कालाहांडी के केसिंगा की ओर चल पड़े.

रेलवे अधिकारियों ने बताया कि सूचना मिलते ही संबलपुर डीआरएम कंट्रोल रूम ने कोच रेक की रफ्तार धीमे होने तक उसे चलने देने का फैसला किया. तेज रफ्तार में उसे रोके जाने पर हादसा हो सकता था. बीच में सभी क्रासिंग को बंद करने के आदेश दिए गए। 13 किमी बाद केसिंगा क्षेत्र का इंतजार किया गया जहां चढ़ाई आने वाली थी. यहां पहुंचकर कोच रेक की रफ्तार धीमी हो गई जहां पटरियों पर पत्थर रखकर उसे रोका गया.

Loading...